रवि शास्त्री ने बता दिया की सेमीफाइनल में धोनी को 7 नंबर पर क्यों भेजा

824
dhoni 2019 world cup semifinal
जब धोनी रन आउट हुए सेमीफाइनल में

जब से विश्व कप की शुरुआत हुयी थी तब से ही भारत टीम के मिडिल ऑर्डर की बात सबके जुबान पर आ रही थी। और आए भी क्यों ना, भारत का मध्य क्रम कमजोर कड़ी जो बना हुया था। जिसका डर था वो ही हुआ सेमीफाइनल के मैच में। शीर्ष क्रम के खिलाड़ी बहुत ही सस्ते में आउट हो गए। फिर बारी आयी मिडिल ऑर्डर के खिलाड़ियों की। जिसकी धज्जियां उड़ा दी न्यूजीलैंड के गेंदबाजो ने।

भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री और भारतीय विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी

रवि शास्त्री ने इंडियन एक्सप्रेस में इस बात का जवाब देते हुये कहा कि ” धोनी को नीचे भेजने का फैसला पूरी टीम का था और एक आसान सा फैसला था। गर धोनी पहले बैटिंग करने आते और जल्दी आउट हो जाते तो टीम चेजिंग का खेल बिगड़ जाता। वो दुनिया के बहुत बड़े फिनिशर है और हम उनका इस तरह से उपयोग में नहीं लाते तो वो न्यायपूर्ण नहीं होता। टीम में हर कोई चाहता था कि वो नीचे ही खेले।”

जैसी सेमीफाइनल में भारत की शुरुआत हुयी थी उसके बाद सभी कयास लगा रहे थे कि अब धोनी आयेगा और भारत को जीत दिला कर लाएगा। लेकिन 3 विकेट गिरने के बाद कार्तिक आते है और कार्तिक के आउट होने के बाद हार्दिक पाण्ड्या।

सौरव गांगुली कमेंटरी करते हुये

जब ऋषभ पंत आउट हुये तब सौरव गांगुली कमेंटरी कर रहे थे तो उन्होने धोनी से पहले दिनेश कार्तिक को मैदान में उतरते देखा तो बोल उठे कि धोनी कहाँ है? और जब कार्तिक आउट हुये फिर पाण्ड्या को मैदान में आता देखा तो फिर बिफर उठे और कहने लगे “इंडिया की मैनेजमेंट टीम को हो क्या गया है? इस समय मैच को अंतिम पड़ाव पर ले जाने की जरूरत है और अनुभवी खिलाड़ी की जरूरत है। टीम का स्कोर ऐसा भी नहीं है कि टीम अपने नए खिलाड़ी को खेलने उतारे। इस समय धोनी को लाते तो अच्छा रहता।

dhoni 2019 world cup semifinal
जब धोनी रन आउट हुए सेमीफाइनल में

इस फैसले पर सुनील गावस्कर ने भी नाराजगी जताते हुये कहा “एक तरफ जहां विकेट के ऊपर विकेट गिर रहे थे वहाँ धोनी को सातवे नंबर पर खेलाना मेरे समझ से परे है।”

जब इसके बारे में विराट कोहली से पूछा गया था तब वो बोले थे कि “शुरुआती कुछ मैचों के बाद प्लान किया गया कि धोनी निचले क्रम के खिलाड़ियों के साथ खेलेंगे। टीम में बैलेंस कि बहुत जरूरत होती है। जहां एक तरफ हिट करे तो दूसरी तरफ विकेट बचा कर रखना जरूरी होता है। जडेजा के साथ धोनी ने अच्छा साथ निभाया।”

अब आने वाले दिनों में एक समीक्षा मीटिंग होगी जिसमें मीडिया के कुछ सवालो का भी जवाब दिया जाएगा। मीटिंग में कोच रवि शास्त्री, कप्तान विराट कोहली के साथ चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद भी होंगे।

खैर, भारत अब विश्व कप से बाहर हो गयी है तो इनका अब इतना फर्क पड़ने वाला है नहीं। लेकिन अगले दौरों में खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करे उसकी कामना करते है। वैसे कल विश्वकप का फ़ाइनल मैच मेजबान टीम इंग्लैंड बनाम न्यूजीलैंड के बीच लॉर्ड्स के मैदान में खेला जाएगा।

the panchayat

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here