अनुच्छेद 35A को हटाने से जम्मू-कश्मीर में क्या बदलाव आएगा ?

1074
Photo : The Week

जम्मू कश्मीर में इन दिनों हालात कुछ ठीक से नहीं हैं. बीते दिनों राज्य में सेना के तैनात होने की भी खबरे आई थी . स्थानीय लोगों का कहना है कि शायद सरकार ने अनुच्छेद 35A को हटाने का मन बना लिया है. माहोल कुछ ऐसा है कि सरकार 15 अगस्त को इस फैसले का एलान भी कर सकती है. हालाँकि सरकार के लिए ये फैसला लेना आसन काम नहीं है. गृहमंत्री अमित शाह ने भी लोकसभा में इस बात का ज़िक्र किया था कि संविधान में धारा 370 स्थाई नही है. इन सभी बातो से ऐसा लगता है कि जम्मू-कश्मीर में जल्द ही कुछ बदलाव आने वाला है.लेकिन आज चर्चा का विषय ये नहीं है कि सरकार क्या करेगी या क्या नहीं करेगी, चर्चा का विषय ये है अनुच्छेद 35A आखिर है क्या और इसे हटाने से जम्मू-कश्मीर में क्या बदलाव आ सकते हैं?

क्या है अनुच्छेद 35A?

अनुच्छेद 35A के अनुसार जम्मू-कश्मीर में जो भी लोग 14 मई 1954 से पहले से बस गये थे सिर्फ वही उस राज्य के स्थानीय निवासी होंगे. इसके साथ-साथ जम्मू-कश्मीर में रहने वाले लोगों को ही उस राज्य में ज़मीन खरीदने का अधिकार है इसके अलावा किसी भी दुसरे राज्य का व्यक्ति जम्मू-कश्मीर में ज़मीन नहीं खरीद सकता है. अनुच्छेद 35A वाले इस राज्य में सरकारी नौकरियां भी केवल स्थानीय लोगों को ही दी जाती है. जम्मू-कश्मीर की कोई भी लड़की अगर दुसरे राज्य के लड़के से शादी करती है तो उस से राज्य के सभी अधिकार छीन लिए जाते हैं लेकिन लड़कों के मामले में ये क़ानून कुछ और ही हैं. अनुच्छेद 35A ने इस राज्य को भारत के दुसरे सभी राज्यों से किस तरह अलग बनाया हुआ है ये तो आप जान ही गये होंगे लेकिन अब इसे सरकार द्वारा हटाने से राज्य में क्या बदलाव आयेंगे इस बारे में बात करते हैं.

Photo : The Week

जम्मू-कश्मीर से अगर अनुच्छेद 35A हटा दिया जाये तो देश के किसी भी राज्य का व्यक्ति जम्मू-कश्मीर में जमीन खरीद सकता है. बस इतना ही नही, इस अनुच्छेद को हटाने के बाद देश का कोई भी नागरिक जम्मू-कश्मीर में सरकारी नौकरी कर सकता है. ये नियम हटने से एक बड़ा बदलाव ये भी आयेगा कि महिलाओं और पुरुषों के अधिकारों में समानता होगी.

एक बड़ा तबका इस फैसले के पक्ष में है तो वही जम्मू-कश्मीर में रहने वाले लोग इससे नाखुश भी हैं, उनका ऐसा मानना है कि अनुच्छेद 35A के हटने से उनके अधिकार छिन जायेंगे और इस वजह से वह सरकार के फैसले के खिलाफ है. जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने तो ये तक कह दिया है कि अनुच्छेद 35A को हटाने की कोशिश करने वाले को वह राख कर देंगी.

आपको यह भी पसंद आएगा : आर्टिकल 35A क्या है ?

अब देखना ये है कि सरकार ने जो कश्मीर में सेना तैनात करने का फैसला लिया वे इस बदलाव के परिणाम को ध्यान में रखते हुए लिया है या फिर वह एक साधारण सी सुरक्षा है.

the panchayat

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here