तेजस एक्स्प्रेस ट्रेन बनी भारत की पहली निजी ट्रेन, IRCTC ने तेजस को लीज पर लिया

216
irctc

भारतीय रेलवे के 166 साल के इतिहास में सबसे बड़ा बदलाव देखने को मिला और ये बदलाव पहला बड़ा बदलाव है. खबर के साथ अंत तक बने रहिये जिससे आपको पूरी जानकारी मिल सके.

तेजस एक्स्प्रेस (फ़ाइल फ़ोटो)

रेलवे के इतिहास में कौनसा बड़ा बदलाव हुया?

irctc
irctc / फ़ोटो : patrika.com

भारतीय रेलवे का पहला सबसे बड़ा बदलाव प्राइवेट ट्रेन चलाने का हुया है. पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस नवंबर में अहमदाबाद और मुंबई के बीच चल सकती है. केंद्र सरकार ने इस ट्रेन को IRCTC को लीज पर दिया है. ट्रेन में यात्रियों की जांच के लिए स्टेशन पर चेकइन काउंटर बनाए जाएंगे. ट्रेन एक घंटे से ज्यादा लेट होगी तो यात्रियों को पूरा रिफंड दिया जाएगा. ट्रेन के किराये पर IRCTC काम कर रही है. इस ट्रेन को लखनऊ-दिल्ली के बीच भी चलाए जाने की योजना बन रही है.

ravindra bhakar
रवीद्र भाकर / फ़ोटो : ani

वेस्टर्न रेलवे के CPRO रविंद्र भाकर ने बताया कि तेजस ट्रेन को चलाने का सारा जिम्मा अब IRCTC का है. वह ट्रेन को पटरी पर दौड़ाने की तैयारी कर रही है. इसके लिए वह रेलवे को लीज चुकाएगी. ट्रेन का शेड्यूल पहले ही घोषित कर दिया गया है.

किराया थोड़ा महंगा हो सकता है

IRCTC के एक बड़े अधिकारी ने बताया कि तेजस का बेस किराया अहमदाबाद-मुंबई रूट पर पहले से चलने वाली शताब्दी एक्सप्रेस के बराबर हो सकता है. तेजस ट्रेन के हर कोच में सिर्फ दो टॉयलट होंगे, इसके पीछे वजह बताई जा रही है कि उससे थोड़ा फ्री स्पेस मिलेगा. जबकि अन्य ट्रेनों के कोच में 4 टॉयलट होते हैं. फूड सर्विस मैनेजमेंट को बेहतर बनाने के लिए नई पैंट्री कार की योजना बनाई जा रही है. रेवेन्यू बढ़ाने के लिए ट्रेन में अंदर और बाहर विज्ञापन लगाए जाएंगे.

चेकइन काउंटर की सुविधा मिलेगी

ट्रेन में बैठने से पहले स्टेशन पर टिकट की चेकिंग कर ली जाएगी, जैसे फ्लाइट की टिकट की जांच होती है. करंट रिजर्वेशन काउंटर भी होगा. इस ट्रेन के लिए IRCTC टिकट जारी करेगी, जो कि ट्रेन और प्लेटफाॅर्म पर वैध होगा. IRCTC के अनुसार, ट्रेन में वह अपना अधिकृत स्टाफ नियुक्त करेगा और रेलवे का TC स्टाफ यात्रियों की जांच नहीं करेगा.

IRCTC की तेजस ट्रेन पहले एक साल केवल 12 कोच के साथ चलेगी, बाद में कोच बढ़ाए जा सकते हैं. रेलवे की मेल ट्रेनों में कम से कम 18 कोच होते हैं. इस ट्रेन की समय सारिणी रेलवे ने तय की है और लोको पायलट, गॉर्ड, ऑपरेटिंग स्टाफ रेलवे का ही होगा. इस ट्रेन को चलाने के लिए IRCTC रेलवे को सालाना किराया देगी. यह किराया कोच और मेंटेनेंस के आधार पर होगा. ट्रेन की मरम्मत रेलवे करेगी. लीज की अवधि पर अभी बात चल रही है.

यह भी पढ़िये – भारतीय रेल का निजीकरण

तेजस ट्रेन की समय सारणी

सुबह 6.10 बजे अहमदाबाद से मुंबई सेंट्रल के लिए रवाना होगी

स्टेशनसमय
अहमदाबादसुबह 6.10 बजे छूटेगी
वडोदरासुबह 8.08 बजे पहुंचेगी
सूरतसुबह 9.35 बजे पहुंचेगी
मुंबई सेंट्रलदोपहर 1.10 बजे पहुंचेगी

  
दोपहर 3.40 बजे मुंबई सेंट्रल से अहमदाबाद के लिए रवाना होगी

स्टेशनसमय
मुंबई सेंट्रलदोपहर 3.40 बजे चलेगी
सूरतशाम 6.57 बजे पहुंचेगी
वडोदरारात 8.20 बजे पहुंचेगी
अहमदाबादरात 9.55 बजे पहुंचेगी

तेजस ट्रेन में यात्रियों को हवाई जहाज वाली सुविधाएं दी जाएगी. इससे पहले वंदे भारत एक्स्प्रेस में ये सुविधा दी जा चुकी है. सुविधायों में LCD स्क्रीन, अटेंडेंट बटन, हर सीट पर चार्जिंग और USB पोर्ट के साथ चाय-कॉफी की फ्री वेंडिंग मशीन मिलेगी.

the panchayat

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here