एक केस लड़ते – लड़ते सुषमा स्वराज को स्वराज कौशल से हुआ था प्यार

913

भारत की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अपनी पूरी ज़िन्दगी राजनीति के नाम कर दी। राजनीती को समय देने के साथ साथ उन्होंने अपने निजी जीवन पर भी पूरी तरह ध्यान दिया। सुषमा स्वराज ने सन 1975 में स्वराज कौशल से शादी कर अपने शादी-शुदा जीवन की शुरुआत की थी और हाल ही में 2019 के लोकसभा चुनावो के दौरान उन्होंने चुनाव लड़ने से मना कर दिया था। उनका कहना था कि वे अपने परिवार के साथ कुछ समय बिताना चाहती हैं इसलिए राजनीती से कुछ समय के लिए दूर होना चाहती हैं। सुषमा स्वराज के इस फैसले से खुश हो कर उनके पति स्वराज कौशल ने ट्वीट कर अपनी पत्नी के चुनाव न लड़ने के फैसले का धन्यवाद किया और कहा कि समय आने पर तो मिल्खा सिंह ने भी भागना बंद कर दिया था। हालाँकि अब सुषमा स्वराज उनसे और पूरी दुनिया से दूर जा चुकी हैं।

रोचक : सुषमा स्वराज के राजनीति छोड़ने पर उनके पति ने क्यों कहा ‘थैंक यू ‘

कौशल से कैसे मिली सुषमा स्वराज

सुषमा स्वराज अपने पति स्वराज कौशल से उनके कॉलेज के दिनों में ही मिली थी। दोनों ही दिल्ली में वकालत पढ़ रहे थे। बाद में दोनों ने ही वकीलों की एक टीम के साथ काम किया और इंदिरा गाँधी द्वारा इमरजेंसी लागू करने के समय जॉर्ज फर्नांडेस का केस लड़ा। दोनों ने इमरजेंसी के कड़े समय में ही एक दूसरे के साथ शादी बांधने का फैसला लिया और तारिख 13 जुलाई 1975 को शादी कर ली। सुषमा स्वराज और उनके पति की विचारधारा पूरी तरह अलग होने के बाद भी दोनों बाकि का जीवन साथ बिताया। सुषमा स्वराज आरएसएस से जुडी हुईं थी वहीँ उनके पति एक समाजिक व्यक्ति थे। दोनों की शादी में बाधाएं भी आयी थी। दोनों के परिवारों ने शादी करने विचार पर कई सवाल भी उठाये। सवाल उठाने की वजह थी कि सुषमा स्वराज हरयाणा के एक रूढ़िवादी परिवार से थी लेकिन वे स्वराज कौशल का नाम अपने अपने नाम के साथ जोड़ने का मन बना बैठी थी। दोनों की शादी हुई और उनकी एक बेटी भी हुई जिसका नाम बांसुरी है।

ये भी गज़ब है : जब सुषमा स्वराज ने पूरी कांग्रेस को उधेड़ दिया था

शादी के 44 साल बाद सुषमा स्वराज का 67 साल की उम्र में दिल का दौरा पड़ने के कारण उनका निधन हो गया। सुषमा स्वराज ने 2019 लोकसभा चुनाव से हटने का फैसला किया। सुषमा स्वराज को आखिरी बार राजनीती से जुड़े सिर्फ तब ही देखा गया था जब भाजपा ने पूर्ण बहुमत के साथ चुनाव जीत कर नेताओं ने शपथ समाहरों ने शपथ ली थी.

the panchayat

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here