राजस्थान के मंत्री ने दिया फिर से विवादित बयान

384
shanti dhariwal

राजनीति में बेतुकी बयानबाजी करना आम बात है. अमूमन राजनेता बेतुकी बयानबाजी करते आया है. कोई राजनेता तो ऐसे बयान दे देते है जिसके बाद विवाद खड़ा हो जाता है. कुछ ऐसा ही वाकया मंगलवार को देखने को मिला, राजनेता का एक बयान विवादों के घेरे में आ गया.

shanti dhariwal
शांति धारीवाल / फ़ोटो : amarujala.com

राजस्‍थान सरकार के स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल (Shanti Dhariwal) ने संघ पर विवादित बयान दिया. धारीवाल राजीव गांधी की जयंती के कार्यक्रम में मंच से संबोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होने कहा कि संघ राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्रगान दोनों के विरोधी है.

मामला क्या है?

राजीव गांधी (फ़ाइल फ़ोटो)

मंगलवार को राजीव गांधी की जयंती पर सारा देश उन्हें याद कर रहा था. वही राजस्थान राज्य में उनकी ही पार्टी के नेता शांति धारीवाल उन्हे याद करने के बाद मंच से जनता को संबोधित कर रहे थे. पहले तो राजीव गांधी के बारे में बताया फिर धारीवाल ने संघ के ऊपर आरोप लगाने शुरू कर दिये.

उन्होने कहा कि राजीव गांधी संघ की विचारधारा से परेशान रहते थे. अगर देश में कोई सांप्रदायिक घटना होगी तो संघ की विचारधारा से ही होगी. धारीवाल यही नहीं रुके इसके आगे वो कहते है कि जब महात्मा गांधी ने 1930 में तिरंगा फहराने को कहा था तब संघ ने तिरंगे की जगह भगवा फहराया था. संघ 1925 से ही राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्रगान के खिलाफ़ है. संघ का कहना था कि राष्ट्रगान में देशभक्ति की वैसी भावना नहीं आती है जैसी राष्ट्रगीत में आती है. संघ तिरंगे की जगह केवल भगवा रंग ही चाहते थे.

हालांकि शांति धारीवाल का ये पहला विवादित बयान नहीं है, उन्होने इससे पहले भी बहुत सारे विवादास्पद बयान दिये है जिसके बाद माफ़ी मांगी गयी है.

the panchayat

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here