उत्तर प्रदेश के एक जिले की स्कूल में बच्चे हो रहे भेदभाव के शिकार

254
separation

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के एक गाँव में ऐसी घटना सामने आई कि समाज का एक घिनौना रूप सामने आ गया. मतलब कि शिक्षा देने वाले स्थल पर बच्चों द्वारा ऊंच-नीच का भेदभाव करते हुये देखने को मिला. आप पाठकों से अनुरोध है कि ख़बर के अंत तक बने रहिए, जिससे आप को पूरी जानकारी मिल सके.

separation
अलग-अलग बैठे विद्यार्थी / फ़ोटो : ANI

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले का रामपुर गाँव के एक सरकारी विद्यालय में विद्यार्थी अपने घर से खाने के बर्तन लाते है और उसी बर्तन में मिड-डे मील खाते है. चौंकाने वाली बात ये है कि विद्यार्थी साथ बैठ कर खाना नहीं खाते है वो अलग अलग बैठ कर खाना खाते है.

मामला क्या है?

ANI के ट्वीट के मुताबिक़, रामपुर के एक प्राथमिक विद्यालय में कुछ विद्यार्थी मिड-डे मील के लिए अपने घर से खाने के बर्तन लाते है और SC/ST एवं दलित विद्यार्थियों के साथ नहीं खाना खा कर अलग बैठ कर खाना खाते है. एक विद्यार्थी का कहना है कि स्कूल के अंदर जो प्लेट उपलब्ध है उनमे कोई भी खाना खा सकता है, इसलिए हम अपने घर से प्लेट लेकर आते है.

इस मामले पर स्कूल के प्रिंसिपल पी गुप्ता कहते है कि हम बच्चों को साथ में बैठ कर खाने के लिए कहते है लेकिन जैसे ही हम उनसे दूर जाते है वे अलग-अलग बैठ कर खाना खाने लग जाते है. शायद वे लोग अपने घर से ही सीख कर आते है. हमने उन्हें समझाने की बहुत कोशिश कि हम सभी एक समान है लेकिन ऊंची जाति वाले विद्यार्थी नीची जाति वाले विद्यार्थियों से अलग ही रहते है.

yogi adtiyanath
योगी आदित्यनाथ / फ़ोटो : NDTV

वैसे ये मिड-डे मील का एक मामला नहीं है ऐसे बहुत से मामले यूपी में होते रहते है. हाल ही में एक स्कूल का वीडियो वायरल हुया था जिसके बाद से योगी आदित्यनाथ की सरकार को जमकर गलियाया गया था.

the panchayat

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here