इल्तिजा मिल सकेंगी माँ मेहबूबा मुफ़्ती से, सुप्रीम कोर्ट ने दी इजाज़त

331

5 अगस्त को सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद से ही कश्मीर में सख्ती कर दी गयी थी। सरकार ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ़्ती और उमर अब्दुल्लाह की भी घेराबंदी कर दी थी। इस कारण उनका किसी से भी मिलना संभव नहीं था। लेकिन हाल ही में खबर आयी है कि मेहबूबा मुफ़्ती की बेटी इल्तिजा मुफ़्ती ने अपनी माँ से मिलने की जो याचिका सर्वोच्च न्यायालय में दर्ज की थी उसपर सुनवाई हो गयी है और इल्तिजा को अपनी माँ मेहबूबा मुफ़्ती से मिलने की अनुमति मिल गयी है।

source-economictimes

सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि इल्तिजा मुफ़्ती कभी भी श्रीनगर जा कर प्रशासन की अनुमति के बाद अपनी माँ से मुलाकात कर सकती हैं। आपको बता दें कि इससे पहले मेहबूबा मुफ़्ती की माँ और उनकी बहन ने पिछले हफ्ते उनसे मुलाकात की थी। मेहबूबा मुफ़्ती की बेटी इल्तिजा ने सर्वोच्च न्यायालय में माँ से मिलने की याचिका दायर की थी जिस पर गुरुवार 5 सितम्बर को चीफ जस्टिस रंजन गोगोई सहित जस्टिस एसए बोबडे और जस्टिस एसए नज़ीर की बेंच ने सुनवाई की और इल्तिजा को माँ से मिलने की अनुमति दी है।

source-oneindia

आपको बता दें कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से ही राज्य की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए वहां पर कर्फ्यू लगा दिया गया था इसके साथ-साथ घाटी से टेलीफोन, इंटरनेट अदि की सेवा को भी बंद कर दिया गया था। 5 अगस्त को अनुच्छेद हटाने से एक रात पहले मतलब 4 अगस्त की रात मेहबूबा मुक्ति और उमर अब्दुल्लाह को भी घर में कैद कर लिया गया था। जिसके बाद वहां के लोगों को अपने परिवारवालों से बात करने और मिलने नहीं दिया जा रहा था। इसी दौरान इल्तिजा ने गृह मंत्री अमित शाह को माँ से मिलने के सम्बन्ध में चिट्ठी भी लिख कर भेजी थी और मीडिया से एक इंटरव्यू के दौरान ये कहा था कि उन्हें कैदियों की यह रखा जा रहा है। उस समय भी इल्तिजा का ऑडियो नोट के ज़रिये आया ये बयान काफी चर्चा में रहा था। फिलहाल इल्तिजा को माँ मेहबूबा मुफ़्ती से मिलने की अनुमति मिल गयी है और वे कभी भी कश्मीर जा कर अपनी माँ से मुलाकात कर सकती है। अब देखना ये होगा कि आखिर कब तक सरकार मेहबूबा मुफ़्ती और उमर अब्दुल्लाह पर इसी तरह घेराबंदी लगाए रखेगी।

the panchayat

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here