Pakistan ने मार दी अपने ही पैर में कुल्हाड़ी अब नहीं मिल सकती कोई भी मदद

573

जब से भारत ने कश्मीर [Kashmir] से आर्टिकल 370 हटाया है तब से ही पाकिस्तान तमतमाया हुया है. कभी वैश्विक मंचो पर जाकर मदद की भीख मांगता है तो कभी अमेरिका को बीच में आकर मामला सुलझाने के लिए बोलता है. लेकिन सारे पैंतरे आजमाने के बाद भी कोई सफलता हाथ नहीं लगी तो पाकिस्तान अपने पुराने रवैये में आ गया. चलिये जानते है पाकिस्तान ने कौनसा पुराना रवैया अपनाया है.

Masood Azhar
Masood Azhar

पाकिस्तान की इमरान सरकार ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद [ Jaish-e-Mohammed ] सरगना मसूद अज़हर [ Masood Azhar ] को जेल से रिहा कर दिया है. मसूद अजहर भारत में हुए संसद, मुंबई, पुलवामा, उरी समेत कई हमलों का मास्टरमाइंड है. मसूद अजहर की रिहाई के बाद भारतीय सेना और सुरक्षाबलों को अलर्ट कर दिया गया है.

इसी साल 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर [ Jammu and Kashmir ] के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान ने मसूद अजहर को गिरफ्तार किया था. हालांकि, तब भी भारत ने कहा था कि अजहर मसूद [ Masood Azhar ] की गिरफ्तारी महज दिखावा है. अब उसकी गुपचुप रिहाई से साफ हो गया है कि पाकिस्तान [ Pakistan ] ने अंतरराष्ट्रीय दबाव में आकर मसूद अजहर की गिरफ्तारी का नाटक किया था. बता दूँ कि यूनाइटेड नेशंस ने मसूद अजहर को इसी साल मई में ग्लोबल टेररिस्ट घोषित किया है. आपको बता दूँ कि पाकिस्तान आतंकी गतिविधियां रोकने के लिए अमेरिका [ America ] से अरबों रुपए लेता था और कहा था कि उन रुपयों का वो सही इस्तेमाल करेगा. लेकिन ग्लोबल टेररिस्ट मसूद अज़हर को रिहा करने के बाद साफ़ झलक रहा है कि अब पाकिस्तान की बातों पर विश्वास नहीं किया जा सकता है. वो टेरर एक्टिविटीज़ को रोकने की बजाय टेररिज़्म को बढ़ावा दे रहा है.

imran khan
इमरान ख़ान / फ़ाइल फ़ोटो

खुफिया जानकारी के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर [ Jammu and Kashmir ] से अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद से ही बॉर्डर पर लगातार घुसपैठ की घटनाएं बढ़ी हैं. पाक और आतंकी संगठन बड़े धमाकों की साजिश रच रहे हैं. आतंकी लगातार बॉर्डर पर घुसपैठ की कोशिश कर रहे हैं. आईबी [Intelligence Bureau ] ने राजस्थान [ Rajsthan ] और जम्मू बॉर्डर पर तैनात बीएसएफ [ bsf ] और सेना अधिकारियों को भी अलर्ट भेजा है.

आईबी के इनपुट के अनुसार पाकिस्तान सियालकोट-जम्मू और राजस्थान के सेक्टर में आने वाले दिनों में कुछ बड़ा करने की योजना बना रहा है.इनपुट में चेतावनी दी गई है कि पाकिस्तान ने अपनी योजना को अंजाम देने के तहत ही राजस्थान सीमा पर अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती की है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान [ Prime Minister Imran Khan ] ने शुक्रवार को धमकी देते हुए कहा था कि जम्मू-कश्मीर को लेकर भारत सरकार के कदम पर उसे जवाब दिया जाएगा. खान ने आगे कहा कि पाकिस्तान युद्ध नहीं चाहता है, लेकिन दुश्मन को पूरी तरह से जवाब देने के लिए तैयार हैं. पाकिस्तान अपने दुश्मन देश के साथ फिर से उसी तरह की (1965 के युद्ध की) स्थिति का सामना कर रहा है. दुश्मन देश नियंत्रण रेखा पर आक्रामकता दिखा रहा है और कश्मीर की स्थिति बदल रही है. उनसे पहले पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जनरल कमर बाजवा ने कहा कि वह किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दूँ कि सोमवार 9 सितंबर को FATF की रीजनल यूनिट एशिया पेसिफिक ग्रुप के सामने पाकिस्तान की पेशी है. पाकिस्तान के पास ब्लैकलिस्ट होने से पहले ये आखिरी मौका था, लेकिन मसूद अजहर को रिहा कर पाकिस्‍तान ने अपने ही पैरों पर कुल्‍हाड़ी मार ली है.

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here