50 मिनट तक बोलते रहे पाक पीएम लेकिन फिर भी लोगों ने सीरियस नहीं लिया

609

संयुक्त राष्ट्र महासभा में पूरी दुनिया से आये प्रतिनिधि मौजूद थे और अपने देश के अलावा दुनिया भर में मौजूद समस्याओं पर बात कर रहे थे. भारत की तरफ से नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान की तरफ से इमरान खान यहां मौजूद थे. यूएनजीए के मंच से जहां भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी ने भारत का कद बढ़ाने में कोई कोरो कसर बाकी नही छोड़ी वहीं पाकिस्तानी पीएम इमरान खान का 50 मिनट लम्बा स्पीच भी फ्लॉप शो बनकर रह गया.

उनके भाषण में दुनिया नही बल्कि इस्लामी आतंकवाद से लेकर कश्मीर ही शामिल रहा.उनका मसकद तो किसी भी तरह से कश्मीर के मसले पर भारत को गलत साबित करने और इस्लामी आतंकवाद को डिफेंड करने तक ही सीमित रहा. 
आईये 5 पॉइंट में आपको बताते हैं कि इमरान खान का भाषण कैसे एक फ्लॉप शो बनकर रह गया.


1) पाक पीएम खान ने अपने भाषण में हिंसा को भड़काने वाली बातें करते हुए कहा कि भारत के जम्मू और कश्मीर से जब भी कर्फ्यू हटेगा,तो वहां खूनखराबा शुरू हो जाएगा. क्या ये कभी किसी ने सोचा है कि तब क्या होगा ?हालांकि इमरान साहब शायद भूल गए कि बलूचिस्तान में उनकी सेना ने कितना आतंक मचा रखा है,लोगों को जीते जी मार रखा है.

2-50 मिनट तक चले अपने लंबे भाषण के दौरान इमरान खान ने भारत को कड़ी चेतावनी दी और कहा कि यदि परमाणु शक्ति संपन्न दोनों पड़ोसियों के बीच टकराव हो गया तो उसके नतीजे उनकी सीमाओं से परे जाएंगे.

3- जम्मू एवं कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने पर इमरान खान ने चेतावनी देते हुए कहा कि  भारत में एक और पुलवामा होगा और इसका आरोप भी भारत पाकिस्तान पर लगाएगा.


4-इमरान खान के भाषण में बस कट्टरता ही दिखाई दी उन्होंने कहा, ‘आरएसएस मुस्लिमों के जातीय सफाये पर विश्वास करता है और प्रधानमंत्री मोदी भी आरएसएस के नेता हैं.’ अरे कोई इनको संभालों यारो इनसे अपना घर सम्भल नही रहा और चले हैं हमारे घर पर उंगली उठाने.


5. पीएम मोदी पर व्यक्तिगत निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘ घमंड की वजह से आदमी अक्सर गलतियां करता है और गलत निर्णय लेता है.’ 


तो ये थे इमरान खान की भाषण की वो स्पीच जिसे दुनिया भर के प्रतिनिधि सुनते तो रहे लेकिन ना तालियों की आवाज़ आई और ना ही किसी ने पाकिस्तान की कही बातों  को कोट किया.जबकि भारतीय पीएम जब बोलने लगे तो ऐसा कई बार हुआ कि लगातार तालियां बजी और भारत की नीतियों का दुनिया ने समर्थन किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here