पेट्रोल-डीजल के वाहनों को रखने वाले न हो परेशान, गडकरी का बड़ा बयान

215

भारत में आयी आर्थिक मंदी के दौर में ऑटो मोबाइल सेक्टर में कार की बिक्री में भी गिरावट देखने को मिल रही है। ह्युंडई सहित अन्य कार कंपनियों को नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का कहना है कि वित्त मंत्रालय ऑटो मोबाइल सेक्टर की मुसीबतों को हल करने में लगा हुआ है। साथ ही उन्होंने ये भी कहा है कि सरकार का पेट्रोल और डीजल की गाड़ियों पर रोक लगाने का अभी कोई भी प्लान नहीं है।

source-navbharattimes

आपको बता दें की सरकार ने हाल ही में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा दिया था जिसके बाद मीडिया में ये अनुमान लगाया जा रहा था कि देश में बढ़ते प्रदुषण को रोकने के लिए सरकार पेट्रोल और डीजल से चलने वाले वाहनों पर रोक लगा सकती है। हालाँकि सराकर ने इस बात की पुष्टि अभी नहीं की है। इसी बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने ये कहा है कि सरकार ऑटो मोबाइल इंडस्ट्री को बढ़ावा देने के लिए आने वाले 3 महीनों में 5 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेगी साथ ही उनका ये भी कहना है कि सराकर ट्रान्स्पोेर्ट की सुविधाओं में बदलाव लाने और इसे और भी बेहतर बनाने की पूरी कोशिश कर रही है।

source-livehindustan

इसी बीच ग्राहकों के लिए बड़ी खबर है कि गडकरी ने कहना है कि ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में बिक्री बढ़ाने के लिए पेट्रोल और डीजल की गाड़ियों से टैक्स कम करने को लेकर वित्त मंत्री से बात की जाएगी। उनका कहना है कि भारत में आने वाले समय में दुनिया का सबसे बड़ा मैन्युफैक्चरिंग हब बनने की क्षमता है। आपको बता दें कि निति आयोग ने हाल ही में ये प्रस्ताव रखा था कि 2023 तक तीन पहियों वाले वाहनों और 2025 तक 150 सीसी से काम क्षमता वाले दो पहिये वाले वाहनों को बंद कर दिया जाये। उनका कहना है कि इन वाहनों की जगह इलेक्ट्रिक वाहनों को इस्तेमाल में लाया जाये। हालाँकि निति आयोग के इस सुझाव के बाद ऑटो इंडस्ट्री में उनकी काफी आलोचना भी हुई।

the panchayat

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here