मनमोहन सिंह ने दी मोदी को सलाह, कहा राजनीती नहीं देश पर दे ध्यान

307

भारत में फिलहाल मंदी का दौर है। अर्थव्यवस्था लगातार गिरती जा रही है ऐसे में देश की जनता और विपक्षी नेता आये दिन केंद्रीय सरकार को निशाने पर लेने के साथ- साथ ही नसीहत देते भी नज़र आ रहे है। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में आयी आर्थिक मंदी से देश की जनता को मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। नौकरियां जा रही हैं। बेरोज़गारी सातवे आसमान को छू रही है। टेक्सटाइल और ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री सहित रोज़गार के अन्य सेक्टर भी ठप्प पड़े हैं। देश के ऐसे हालातों के बीच नरेंद्र मोदी को भारत के सबसे बड़े अर्थशास्त्री अगर नसीहत दे तो उसमे कोई चौंकाने वाली बात नहीं होगी।

हम बात कर रहे हैं देश की अर्थव्यवस्था की और उससे जुडी मुसीबतों की। तो जिस तरह देश के हालात बिगड़ते जा रहे हैं ऐसे में देश में रहने वाले हर व्यक्ति को इसकी चिंता सता रही है। अपनी इसी चिंता को ज़ाहिर करने के लिए देश के पूर्व प्रधानमंत्री और कोंग्रेस के वरिष्ठ नेता मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी को अर्थव्यवस्था को सुधारने की और देश पर ध्यान देने की नसीहत दी है। मनमोहन सिंह का कहना है कि देश की अर्थव्यवस्था इस समय खतरे में है। उन्होंने कहा कि देश में तेज़ी से बढ़ने की क्षमता है। लेकिन मोदी सरकार के कुप्रबंध के कारण देश को इस मंदी की मार झेलनी पड़ रही है। इसके साथ ही मनमोहन सिंह ने ये भी कहा है कि 5% की वृद्धि दर देख कर ये साफ़ होता है कि देश लम्बे समय से सुस्ती में है।

पूर्व आरबीआई गवर्नर रहे मनमोहन सिंह ने देश के विनिर्माण क्षेत्र यानि की मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री की वृद्धि पर भी चिंता जताई है। उनका कहना है कि देश की मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री की वृद्धि 0.6 प्रतिशत देख कर ये साफ़ हो रहा है कि देश की अर्थव्यवस्था अभी तक नोटबंदी और जीएसटी के चलते आये बदलावों से उभर नहीं पायी है। मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी को सलाह देते हुए कहा है कि भारत इस रास्ते पर ज़्यादा लम्बे समय तक टिक नहीं पायेगा, इसलिए बेहतर होगा कि सरकार राजनीती करने की जगह देश की अर्थव्यवस्था को मानव निर्मित संकट से बाहर निकाले और देश के विकास पर ध्यान दे।

source-manoramaonline

ये तो हम सभी जानते ही हैं कि अर्थव्यवस्था काफी तेज़ी से नीचे आ रही है। जीडीपी भी घट कर 5 प्रतिशत पर आ गयी है। गौर देने वाली बात है कि एक समय था जब देश तेज़ी से आगे बाढ़ रहा था लेकिन अब हालत कुछ तक नहीं हैं। आर्थिक स्थिति बिगड़ने के साथ ही विपक्षी नेताओं को भी मोदी सरकार पर सवाल उठाने का मौका मिल गया है और ऐसे में आये दिन नेता मोदी सरकार को नसीहत देते नज़र आ रहे हैं। हालाँकि देश के हालातों के बीच देश के सबसे बड़े अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह की प्रतिक्रिया का इंतज़ार हम सभी को था। आपको बता दें कि मनमोहन सिंह ने काफी समय पहले ही इस बात की भविष्यवाणी कर दी थी कि आने वाले समय में देश में मंदी आजायेगी और हमे उस संकट का सामना करना होगा।

अब ऐसे में देखना ये होगा कि मोदी सराकर मनमोहन सिंह द्वारा दी गयी इस सलाह को किस तरह काम में लेती है जिस से देश इस संकट से बाहर निकलने में सफल हो सके।

the panchayat

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here