अपने कॉलेज की छात्राओं से मसाज कराने वाले स्वामी चिन्मयानंद के मामले की पूरी रिपोर्ट

794
chinmayanand case

लगता है उत्तर प्रदेश में भाजपा के नेताओं पर शनि मंडरा रहा है या यूं कहे कि अपने किए गए करतूतों की पोल खुलती नजर आ रही है. भाई जो भी कारण हो लेकिन भाजपा के नेताओं की अच्छे से रेल बनी हुई है. अभी पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद के ऊपर कुछ आरोप लगे है और उसी के चलते योगी सरकार ने विशेष जांच दल बनाकर पूछताछ का काम शुरू करवा दिया. तो आज बात करेंगे स्वामी चिन्मयानंद कौन है, उनके ऊपर कैसा आरोप लगा है, आरोप किसने लगाया है, और अब तक इस केस में क्या-क्या हुया है? मतलब कि स्वामी चिन्मयानंद केस की पूरी रिपोर्ट. चलिये शुरू करते है.

swami chinmayanand
स्वामी चिन्मयानंद / फ़ोटो : theprint

उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले के रहने वाले है कृष्णपाल सिंह. नाम तो सुना ही होगा. नहीं सुना!!!! अरे, माफ करिएगा आपने कैसे सुना होगा, उनको तो आप स्वामी चिन्मयानंद(swami chinmayanand) से जानते है. हाँ जी, वो ही स्वामी चिन्मयानंद जो आज कल चर्चाओं में है. लखनऊ विश्वविद्यालय(Lucknow) से MA की डिग्री कर रखी है और अस्सी के दशक में स्वामी धर्मानंद के शिष्य बन कर शाहजहांपुर(Shahjahanpur) में स्थित मुमुक्षु आश्रम में रहने लगे. स्वामी धर्मानंद के बाद आश्रम का सारा कार्यभार चिन्मयानंद ने संभाल लिया था. धीरे-धीरे वो राजनीति में उतर गए और भाजपा में शामिल हो गए. अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में गृह राज्यमंत्री का पद भी संभाला था. तीन बार सांसद भी रह चुके है. ये थी छोटी सी जानकारी स्वामी चिन्मयानंद के बारे में. अब बढ़ते है मुख्य मुद्दे की ओर.

पिछले महीने यानी अगस्त महीने की 24 तारीख को पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद के कॉलेज स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय(Swami Shukdevanand Law College) से एलएलएम कर रही एक छात्रा का वीडियो वायरल हुया था, जिसमें उसने चिन्मयानंद पर आरोप लगाया था कि उसने उसकी तथा कई अन्य लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर दी है. इसके साथ ही उसने अपने और अपने परिवार की जान का खतरा बताया था. वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने चिन्मयानंद के खिलाफ अपहरण और जान से मारने की धमकी की धाराओं में मामला दर्ज किया था. छात्रा ने दिल्ली में शिकायत दर्ज करवाई है. वहीं, छात्रा ने आरोप लगाया कि शाहजहांपुर पुलिस एफआईआर दर्ज नहीं कर रही है.

special investigation team
विशेष जांच दल / फ़ोटो : steelguru

इसके बाद इस केस की निष्पक्ष जांच के लिए एसआईटी यानी विशेष जांच दल बनाई गयी. एसआईटी ने जांच भी शुरू कर दी. छात्रा ने पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री पर बलात्कार का भी आरोप लगाते हुए कहा कि वे मामले की जांच कर रही एसआईटी को भी ये बात बता चुकी है. एसआईटी ने पिछले रविवार को करीब 11 घंटे तक छात्रा से पूछताछ की थी. युवती के मुताबिक उसने जांच दल को बताया है कि स्वामी चिन्मयानंद ने उसके साथ बलात्कार और एक वर्ष तक उसका शारीरिक शोषण भी किया है. उसने दावा किया कि ये रिपोर्ट दिल्ली के लोधी रोड थाने में जीरो क्राइम नंबर पर दर्ज करके शाहजहांपुर भेज दी गई है, मगर स्थानीय पुलिस बलात्कार और शारीरिक शोषण की रिपोर्ट दर्ज नहीं कर रही है. हालांकि इस बात की पुष्टि द पंचायत नहीं करती है.

लड़की ने कहा कि इससे पहले जब उसके पिता ने चिन्मयानंद के खिलाफ शारीरिक शोषण के आरोप में मुकदमे की रिपोर्ट दी थी तब मुकदमा दर्ज करना तो दूर, जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह(Indra Vikram Singh) ने उसके पिता को धमकी देते हुए चिन्मयानंद के नाम के इफेक्ट का हवाला दिया और बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने को कहा था. इस पर जिलाधिकारी ने अब तक कोई बयान नही दिया है और ना ही मीडिया से इस बात पर बोलना चाहता है.

उसके बाद एक वीडियो(video) और वायरल(viral) हुआ जिसमें एक अधेड़ उम्र का शख्स लड़की से मसाज(massage) करवाता हुया दिखाई दे रहा है. उस शख्स की शक्ल स्वामी चिन्मयानंद से मिल रही है. उसके बाद एक और वीडियो आती है जिसमें पाँच करोड़ रुपए की रंगदारी(extortion) मांगी जा रही है. हालांकि चिन्मयानंद के वकील ओम सिंह(Advocate Om Singh) ने वीडियो को फर्जी और एडिटिंग किया हुये बताया और कहा कि मसाज लेना कोई अपराध तो नहीं है. बड़े-बड़े स्पा में मसाज लड़कियां ही करती है.

शुक्रवार को इस मामले में कार्रवाई को आगे बढ़ाते हुए एसआईटी की टीम शाहजहांपुर में स्वामी चिन्मयानंद के आश्रम में जांच करने के लिए पहुंची. इस दौरान पीड़ित लड़की भी एसआईटी की टीम के साथ थी. SIT की टीम ने स्वामी चिन्मयानंद से पूछताछ की. इस दौरान एसआईटी ने स्वामी चिन्मयानंद से छात्रा के आरोपों और रंगदारी के मामले में कई सवाल पूछे. उनके जवाब देने में स्वामी ने करीब 7 घंटे लगा दिये. और पीड़ित लड़की ने एसआईटी को एक 64 जीबी पेन ड्राइव में तकरीबन 35 से 40 वीडियो है जो स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ़ सबूत बन सकते है. सबूत देते हुये छात्रा ने कहा कि स्वामी चिन्मयानंद के लोगो ने बहुत सारे सबूत मिटाने की कोशिश की है लेकिन अब इस सबूत को एसआईटी को दे दिया है अब आगे की ज़िम्मेदारी एसआईटी की है.

chinmayanand case
पीड़ित छात्रा और स्वामी चिन्मयानंद / फ़ोटो : zeenews

मामला शुरू होता है एक साल पहले से. जब छात्रा स्वामी चिन्मयानंद की लॉ कॉलेज में LLM का कोर्स करने के लिए दाखिला लेती है, लेकिन फीस भर पाने में असमर्थ होती है. तब कॉलेज के प्रिंसिपल उसे चिन्मयानंद से मिलने को कहते है. क्योंकि वो चेयरमेन है इसलिए फीस माफ कर सकते है. लड़की स्वामी से मिलने उनके घर जाती है और अपनी बात बताती है. तो चिन्मयानंद उसकी फीस माफ कर देते है. कॉलेज शुरू होता है तब कॉलेज की तरफ से लड़की को कॉलेज में काम करने के लिए ऑफर करते है. लड़की पहले मना करती है लेकिन बाद में वो ऑफर स्वीकार कर लेती है. काम ज्यादा होने की वजह से उसे कॉलेज के हॉस्टल में एक कमरा दिलाया जाता है. उसके हॉस्टल में रहने, खाने-पीने का कोई भी पैसा नहीं लगता है. फिर एक दिन स्वामी चिन्मयानंद के लोग उसे उठा कर स्वामी के घर के ऊपर वाले रूम में छोड़ देते है. फिर वहाँ उसके नहाने का एक वीडियो बना देते है. उसके बाद वीडियो के जरिये उसे ब्लेकमेल किया जाता है. उस ब्लेकमेल के बहाने स्वामी चिन्मयानंद उसका शारीरिक शोषण करते है. उसका भी वीडियो बनाया जाता है.

hidden camera
हिडन कैमरा वाला चश्मा / फ़ोटो : amazon

ये लगभग एक साल चलता रहा है. फिर एक दिन छात्रा ने गूगल से हिडन कैमरा का चश्मा मंगवाया क्योंकि मसाज करने वाले रूम में फोन अलाउड नहीं था. फिर उस चश्मे की बदौलत छात्रा ने वीडियोज़ बनाने शुरू कर किए. लेकिन एक दिन उसका चश्मा हॉस्टल से किसी ने चुरा लिया. लेकिन तब तक उसके पास बहुत सारे वीडियोज़ हो चुके थे जिसे वो एक पेन ड्राइव में सेव करके रख दिये. ये पेन ड्राइव वो ही है जो एसआईटी को दी गयी है. जब वीडियोज़ वाली बात स्वामी चिन्मयानंद के पता चली तो लड़की को पकड़ कर लाने को कहा गया, लेकिन लड़की अपने दोस्त संजय सिंह के साथ कहीं भाग गयी थी. फिर एक वीडियो वायरल करने के बाद वो मीडिया के सामने आई. फिर आगे की कहानी आपको पता ही है. अभी एसआईटी ने स्वामी चिन्मयानंद को अपने आश्रम से बाहर जाने के लिए मना कर रखा है.

the panchayat

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here