कैसी थी राजीव गांधी की आखिरी राजनीतिक रैली

660

तारीख थी 21 मई 1991 . भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी लोकसभा चुनाव के दौरान तमिलनाडु के पेरंबुदूर में भाषण देने गए थे। लोगों की भारी भीड़ जमा हुई थी। आखिर देश के प्रधानमंत्री जनता को सम्बोधित करने जो आये थे। उसी भीड़ में शायद कुछ लोग ऐसे भी थे जो ख़राब मंसूबों के साथ वहां मौजूद थे। रात के 10:15 हो रहे थे। राजीव गांधी गाड़ी से मैदान में आये। लोगों की भीड़ उनका बेसब्री से इंतज़ार कर रही थी। राजीव गांधी को देखते ही पूरी भीड़ एक साथ आगे बढ़ने लगी। उनको रोकने के लिए पुलिस भी पूरी कोशिश कर रही थी। लोगों की भीड़ को राजीव गांधी तक पहुँचने से रोक रही थी। उसी भीड़ में आँखों पर चश्मा लगाए सांवली सी एक लड़की भी थी। जो लगातार राजीव गांधी की तरफ बढ़ती जा रही थी। वहां तैनात सब इंस्पेक्टर अनसुइया ने उस लड़की का हाथ पकड़ा और उसे रोकने की कोशिश की।

Photo : INC

लेकिन तभी राजीव ने ज़ोर से आवाज़ लगाई “सबको आने दो”. अनसुइया की पकड़ वही ढीली पड़ गयी। राजीव गाँधी की वही बात उनकी पूरी ज़िन्दगी पर भारी पड़ गयी। वो लड़की राजीव गांधी की तरफ बढ़ने लगी। भीड़ को पीछे छोड़ते हुए वो लड़की जिसका नाम धनु था, हाथ में चन्दन की माला लिए राजीव गांधी की तरफ तेज़ी से बढ़ती रही। ऐसा लग रहा था जैसे वो लड़की राजीव गांधी की सबसे बड़ी फैन है और राजीव गांधी को बधाई के तौर पर माला पहनाने जा रही है।

rajiv gandhi death

धनु नाम की उस लड़की ने राजीव गाँधी को वो चन्दन की माला पहनाई और उनके पैर छूने के लिए निचे झुकी। उसके हाथ में रिमोट था, उसने रिमोट का बटन दबाया और बटन दबाते ही धमाका हुआ। एक झटके में पूरा माहौल बदल गया। धमाके का धुआं जब छटा तो चारो तरफ लाशे बिछी हुई थी। उन्ही लाशों के बीच एक लाश तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी की भी थी। कुछ देर पहले जहा पेरंबुदूर के उस मैदान में राजीव गाँधी के नाम के नारे गूँज रहे थे। वहीँ अब चारो तरफ सन्नाटा छा गया था। लगों की भीड़ से भरे उस मैदान में अब बस खून छींटे दिख रहे थे। राजीव गांधी दुनिया से जा चुके थे। धमाके में उनके साथ 15 मासूम लोगों की भी जाने गयी। पूरे देश में मायूसी छा गयी थी। राजनीतिक गलियारों में सन्नाटा हो गया था। देश ने एक मज़बूत नेता को खो दिया था। 21 मई 1991 मे दुनिया को छोड़ कर जाने वाले राजीव गांधी की आज 75वीं जन्मतिथि है। अपने छोटे से कार्यकाल में लोगों के दिलों में बड़ी जगह बनाने वाले राजीव गांधी को आज पूरा देश याद कर रहा है। भले ही राजीव गांधी दुनिया से चले गए हो लेकिन उनकी बाते और उनके द्वारा किये गए काम आज भी लोगों के ज़हन में ज़िंदा हैं।

the panchayat

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here