सिर्फ़ 1 रूपये की फ़ीस लेकर कुलभूषण जाधव के लिए लड़ रहे है हरीश साल्वे

581
harish salve
Photo : Bar & Bench

नीदरलैंड स्थित अंतरराष्ट्रीय अदालत ने कुलभूषण जाधव की सजा को रोक दिया है इसका श्रेय जाता है उनके वकील हरीश साल्वे [ Harish Salve ] को. जो कल से कुछ ज्यादा ही चर्चा में है. चर्चा का विषय उनकी फीस को लेकर है जिसका पुख्ता प्रमाण पूर्व विदेश मंत्री के सुषमा स्वराज के ट्वीट ने दी. उन्होने लिखा की साल्वे इस केस के लिए केवल 1 रुपया ले रहे है.

#जानते है हरीश साल्वे के बारे में

हरीश साल्वे भारत के जाने माने महंगे और प्रसिद्ध वकील है, ज़्यादातर ये Constitutional, Commercial और Taxation laws के केस लड़ते है. साल्वे 1999 से 2002 के बीच भारत के सॉलिसिटर जनरल के रूप में भी काम कर चुके है. इंडिया टूड़े की पत्रिका के अनुसार साल 2017 में भारत के 50 शक्तिशाली व्यक्तियों में से उन्हे 47वी रैंक दी गयी थी.

Harish Salve has charged us Rs.1 as his fee for Kulbhushan Jadhav's Case
Photo Ani

#परिवार

हरीश साल्वे का जन्म 1956 में महाराष्ट्र के नागपुर शहर में हुआ था. हरीश साल्वे के पिता नरेंद्र कुमार साल्वे एक बड़े कांग्रेसी नेता और चार्टर्ड अकाउंटेंट थे और माता अंब्रिती साल्वे एक डॉक्टर थी. दादा मशहूर क्रिमिनल वकील थे. इनकी पत्नी का नाम मीनाक्षी है और इनकी दो बेटियाँ सानिया और साक्षी है. इनके परिवार की जड़े छिंदवाड़ा, मध्य प्रदेश से है. हरीश साल्वे को संगीत का बहुत शौक है और खुद बहुत अच्छा पियानो भी बजाते है. नागपुर से ही कॉमर्स में ग्रैजुएट होने के बाद साल्वे ने सीए (चार्टर्ड अकाउंटेंट) की पढ़ाई शुरु की. सीए बनने के बाद हरीश कराधान विशेषज्ञ यानि Taxation laws Specialist बने.

#व्यवसाय

नानभोय पलखिवाला से प्रेरित होकर साल्वे ने कानून की दुनिया में अपना कदम रखा. वर्ष 1980 में अपने लीगल करियर की शुरुआत की उसके बाद उन्होंने कभी मुड़कर पीछे नही देखा. हरीश साल्वे आज पूरी दुनिया में फेमस है. 2013 में साल्वे ने कहा की वो अब इंग्लैंड की अदालत का एक हिस्सा है और ब्लैकस्टोन चैम्बर्स को जॉइन कर रखा है.

हरीश साल्वे कई हाई प्रोफाइल केस लड़ चुके हैं जिसमें अंबानी से लेकर टाटा तक के केस शामिल हैं. अभी हाल में अभिनेता सलमान खान को हिट एंड रन केस में जमानत दिलवाने वाले हरीश साल्वे ही थे . और हाल ही 2017 में इनको भारत की तरफ से आईसीजे में कुलभूषण जाधव का केस लड़ने के लिए हायर किया था जिनकी दलीलों से कुलभूषण की फांसी की सजा रोकनी पड़ी.

हरीश साल्वे का नाम पनामा पेपर्स में भी आया था लेकिन पुख्ता सबूत ना होने की वजह से इनके ऊपर लगा केस खारिज हो गया.

साल्वे, कुलभूषण का केस लड़ने के लिए केवल 1 रुपए फीस ले रहे है ये सुनने में सबको अजीब लग रहा था क्यूंकी हरीश साल्वे बहुत ही ज्यादा महंगे वकील है. खैर, उनके फीस लेने या ना के बराबर लेने से उनकी वजह से अपना नागरिक वापस वतन लौट सकता है तो इससे बड़ा उपहार और कोई हो ही नहीं सकता.

the panchayat

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here