कैसे अरुण जेटली ने सबके खिलाफ जा के दिया था नरेंद्र मोदी का साथ

408
arun jetli
अरुण जेटली / फ़ोटो : khabar.ndtv.com

साल था 2002, वो वक़्त जब गुजरात में हालात कुछ ठीक नहीं थे। हम बात कर रहे हैं गुजरात के गोधरा कांड की। जिसमे करीब 59 लोगों की जाने चली गयी। गुजरात में उस वक़्त भाजपा की सरकार थी और नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे। मामले में कुछ लोगों द्वारा साबरमती ट्रैन के s-6 डब्बे में आग लगा कर लोगों की हत्या कर दी गयी थी। ये मामला शांत होने के जगह और भी ज़्यादा गर्माता गया और गुजरात में इसने दंगों का रूप ले लिया। पूरे मामले में लगभग 1200 लगों की जाने गयी। अब ये मामला राजीनीतिक रूप ले चुका था। गोधरा ट्रैन कांड के बाद सबने नरेंद्र मोदी को निशाना बनाया और उनके इस्तीफे की मांग करने लगे।

वो वक़्त था जब मोदी का साथ उनकी अपनी भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने भी छोड़ दिया था। लेकिन कुछ लोग थे जिन्होंने उस कठिन समय में भी नरेंद्र मोदी का साथ नहीं छोड़ा और एक सच्चे दोस्त और साथी की तरह साथ दिया। उन कुछ लोगों में से ही एक थे अरुण जेटली। अरुण जेटली ने उस वक़्त सभी का विरोध करते हुए नरेंद्र मोदी का साथ एक सच्चे दोस्त की तरह दिया। उनका कहना था कि लोगों ने गोधरा काण्ड के बाद जो हंगामा हुआ उसे नरेंद्र मोदी के खिलाफ इस्तेमाल किया है और लोगों को भड़काने की कोशिश की है। साथ ही अरुण जेटली ने ये भी कहा कि नरेंद्र मोदी को 2002 में गुजरात में हुए गोधरा काण्ड के लिए किसी से भी माफ़ी मांगने की ज़रूरत नहीं है। उनका कहना था कि अदलात ने नरेंद्र मोदी पर लगे झूठे इल्ज़ामों को बेबुनियाद बताया है इसलिए नरेंद्र मोदी को किसी को सफाई देने की ज़रूरत है। उस वक़्त अरुण जेटली वो दोस्त साबित हुए जिसकी हम सब उम्मीद करते हैं।

लोगों के खिलाफ जा कर नरेंद्र मोदी का साथ देने वाले अरुण जेटली भाजपा के दिग्गज नेताओं में से एक हैं। वे पूर्व वित्त मंत्री भी रह चुके हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत के पीछे भी अरुण जैटली का बहुत बड़ा हाथ था। अरुण जैटली वो व्यक्ति थे जो अपने तेज़ जवाबों से विपक्ष का मुँह बंद कर दिया करते थे। लेकिन अब भाजपा के बड़े नेता इस दुनिया में नहीं रहे हैं। 24 अगस्त की दोपहर करीब 12 बजे उन्होंने दिल्ली एम्स अस्पताल में लम्बी बीमारी के बाद दम तोड़ दिया। हालाँकि उनके आखिरी समय में देश के प्रधानमंत्री और अरुण जेटली के अच्छे मित्र नरेंद्र मोदी फिलहाल भारत में नहीं हैं। लेकिन दुःख की इस घडी में नरेंद्र मोदी, बीजेपी और पूरा देश शोक में है। अरुण जेटली ने हमेशा के लिए दुनिया को अलविदा कह दिया है। ऐसे में द पंचायत की पूरी टीम अरुण जेटली को श्रद्धांजलि अर्पित करती और उनकी आत्मा की शांति की प्रार्थना करती है।

the panchayat

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here