लोकसभा में अमित शाह ने क्या कहा ?

218
amit shah in loksbha
Photo : DD

मंगलवार को केंद्र मंत्री अमित शाह ने लोकसभा सभा में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने का प्रस्ताव पेश किया है। अनुच्छेद को हटाने की बात शुरू हुई तो विपक्ष ने इस पर जमकर हंगामा भी किया। बहस के दौरान कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी ने ये सवाल भी उठाया कि कश्मीर मामला संयुक्त राज्य मतलब यूएन में लंबित है तो ये आंतरिक मुद्दा कैसे हो सकता है। अधीर रंजन चौधरी के इस सवाल पर अमित शाह ने जवाब में कहा कि अगर सरकार ने कोई भी नियम तोड़ा है तो उसे बताया जाये। अमित शाह ने तीखे शब्दों में कहा कि वह पीओके और अक्साई चीन को भी भारत का हिस्सा मानते हैं और उसके लिए जान भी देने के लिए तैयार हैं।

amit shah in loksbha
Photo : DD

कोंग्रेसी नेता ने ये भी कहा कि यूएन ये मामला 1948 से संभाल रहा है, इसे अंदरूनी मामला कैसे बोल सकते हैं? कुछ दिन पहले एस जयशंकर ने अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो से कहा था कि कश्मीर एक द्विपक्षीय मुद्दा है और वो इसमें दखलंदाज़ी नहीं कर सकते हैं। पूरी कांग्रेस पार्टी इस बात का जवाब चाहती है कि क्या अब भी ये एक अंदरूनी मुद्दा है ?

adhir Ranjan Chowdhury
अधीर रंजन लोकसभा में

उनके जवाब में अमित शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर देश का अभिन्न अंग है, ये राज्य भारत का ही हिस्सा है, यह तक कि जम्मू-कश्मीर के संविधान में भी इस बात का ज़िक्र किया हुआ है। देश को पूरा अधिकार है कि वो जम्मू-कश्मीर से सम्बंधित इस प्रकार का कानून बना सकता है। इस पर चौधरी ने पीओके के बारे में सवाल किया जिसका शाह ने तीखा जवाब देते हुए कहा कि जब वो जम्मू-कश्मीर बोलते हैं तो उनका मतलब पूरा जम्मू-कश्मीर होता है जिसमे पीओके और अक्साई चीन भी शामिल होता है। शाह ने विपक्ष से सवाल किया कि क्या वो लोग पीओके और अक्साई चीन को जम्मू-कश्मीर का हिस्सा नहीं मानते हैं? उनका कहना है कि भारत के संविधान ने जम्मू-कश्मीर की जो सीमाएं तय की हैं उसमे पीओके और अक्साई चीन भी शामिल है और वो उसके लिए अपनी जान भी दे सकते हैं।

आपको बता दें कि शाह ने सोमवार को राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को ख़त्म करने का बिल पेश किया था साथ ही जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बाटने का प्रस्ताव रखा था और विपक्ष ने इसका विरोध किया था जिसके बाद शाह ने उस प्रस्ताव को मंगलवार को एक बार फिर पेश करने और उस पर विस्तार से चर्चा करने के लिए कहा था। अमित शाह ने यह भी कहा था कि वो मंगलवार को विपक्ष का सुझाव भी लेने के लिए तैयार हैं। इस पर कोंग्रेसी नेता अधीर राज चौधरी ने कहा कि अमित शाह आये देश को तोडा और चले गए। उनका कहना ये भी था कि सरकार ने जम्मू-कश्मीर को एक जेल बना दिया है।

इस बहस के दौरान अमित शाह ने सभी को शांति बनाये रखने के लिए कहा और साथ ही बताया कि जम्मू-कश्मीर में सही समय आने पर सब कुछ फिर से पहले जैसा हो जायेगा। कश्मीर पहले भी जन्नत था और आने वाले समय में भी जन्नत ही रहेगा।

the panchayat

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here